Inspirational Stories - वीणा (Lute Story in Hindi)- Positive Short Stories


एक घर में बहुत दिनों से एक वीणा रखी थी। उस घर के लोग भूल गए थे, उस वीणा का उपयोग। पीढ़ियों पहले कभी कोई उस वीणा को बजाता रहा होगा। अब तो कभी कोई भूल से बच्चा उसके तार छेड़ देता था तो घर के लोग नाराज होते थे। कभी कोई बिल्ली छलांग लगा कर उस वीणा को गिरा देती तो आधी रात में उसके तार झनझना जाते, घर के लोगों की नींद टूट जाती। वह वीणा एक उपद्रव का कारण हो गई थी। अंततः उस घर के लोगों ने एक दिन तय किया कि इस वीणा को फेंक दें -जगह घेरती है, कचरा इकट्ठा करती है और शांति में बाधा डालती है। वह उस वीणा को घर के बाहर कूड़े घर पर फेंक आए।

🔸वह लौट ही नहीं पाए थे फेंक कर कि एक भिखारी गुजरता था, उसने वह वीणा उठा ली और उसके तारों को छेड़ दिया। वे ठिठक कर खड़े हो गए, वापस लौट गए। उस रास्ते के किनारे जो भी निकला, वे ठहर गया। घरों में जो लोग थे, वे बाहर आ गए। वहां भीड़ लग गई। वह भिखारी मंत्रमुग्ध हो उस वीणा को बजा रहा था। जब उन्हें वीणा का स्वर और संगीत मालूम पड़ा और जैसे ही उस भिखारी ने बजाना बंद किया है, वे घर के लोग उस भिखारी से बोलेः वीणा हमें लौटा दो। वीणा हमारी है। उस भिखारी ने कहाः वीणा उसकी है जो बजाना जानता है, और तुम फेंक चुके हो। तब वे लड़ने-झगड़ने लगे। उन्होंने कहा, हमें वीणा वापस चाहिए। उस भिखारी ने कहाः फिर कचरा इकट्ठा होगा, फिर जगह घेरेगी, फिर कोई बच्चा उसके तारों को छेड़ेगा और घर की शांति भंग होगी। वीणा घर की शांति भंग भी कर सकती है, यदि बजाना न आता हो। वीणा घर की शांति को गहरा भी कर सकती है, यदि बजाना आता हो। सब कुछ बजाने पर निर्भर करता है।

🔸जीवन भी एक वीणा है और सब कुछ बजाने पर निर्भर करता है। जीवन हम सबको मिल जाता है, लेकिन उस जीवन की वीणा को बजाना बहुत कम लोग सीख पाते हैं। इसीलिए इतनी उदासी है, इतना दुख है, इतनी पीड़ा है। इसीलिए जगत में इतना अंधेरा है, इतनी हिंसा है, इतनी घृणा है। इसलिए जगत में इतना युद्ध है, इतना वैमनस्य है, इतनी शत्रुता है। जो संगीत बन सकता था जीवन, वह विसंगीत बन गया है क्योंकि बजाना हम उसे नहीं जानते हैं।

ओम शान्ति

Inspirational Stories - वीणा (lute)



A harp was kept in a house for many days. The people of that house had forgotten, the use of that veena. For generations, someone must have played that veena. Now sometimes if a child used to tease her by mistake, the people of the house were angry. Sometimes a cat would jump and drop that veena, then in the middle of the night, its wires would tingle, the people of the house would fall asleep. That veena became the cause of a nuisance. Eventually the people of that house decided one day to throw this veena - encircles the place, collects the garbage and obstructs the peace. He threw the veena at the garbage house outside the house.

He could not return, throwing that a beggar would pass, he took that harp and pierced its strings. They stood up, turned back. Whatever came out of the road, they stopped. Those who were in the houses came out. There was a crowd. The beggar, playing the harp, was enchanted. When they came to know Veena's voice and music, and as soon as that beggar has stopped playing, the people of the house said to the beggar: Veena return to us. Veena belongs to us. The beggar said: Veena is someone who knows how to play, and you have thrown. Then they started fighting. They said, we need Veena back. The beggar said: Then the garbage will collect, then the place will be surrounded, then a child will pierce its wires and the peace of the house will be disturbed. Veena can also disturb the peace of the house if it does not play. Veena can also deepen the peace of the house if it comes to playing. Everything depends on playing.

7 Life is also a harp and everything depends on playing. We all get life, but very few people learn to play the harp in that life. That is why there is so much sadness, so much pain, so much pain. That is why there is so much darkness in the world, so much violence, so much hatred. That's why there is so much war in the world, so much hostility, so much enmity. The music that could have become life has become dissonant because we do not know how to play it.

Om Shanti

Comments