Inspirational Stories Hindi For Kids - छोटी बहन (Younger Sister) Best Hindi Story For Kids


एक 6 वर्ष का लडका अपनी 4 वर्ष की छोटी बहन के साथ बाजार से जा रहा था। अचानक से उसे लगा की, उसकी बहन पीछे रह गयी है।

वह रुका, पीछे मुडकर देखा तो जाना कि,  उसकी बहन एक खिलौने के दुकान के सामने खडी कोई चीज निहार रही है।

लडका पीछे आता है और बहन से पुछता है, "कुछ चाहिये तुम्हे ?" लडकी एक गुड़िया की तरफ उंगली उठाकर दिखाती है।

बच्चा उसका हाथ पकडता है, एक जिम्मेदार बडे भाई की तरह अपनी बहन को वह गुड़िया देता है। बहन बहुत खुश हो गयी है।

दुकानदार यह सब देख रहा था, बच्चे का व्यवहार देखकर आश्चर्यचकित भी हुआ ....अब वह बच्चा बहन के साथ काउंटर पर आया 
और दुकानदार से पुछा, "सर, कितनी कीमत है इस गुड़िया की ?"

दुकानदार एक शांत व्यक्ती है, उसने जीवन के कई उतार चढाव देखे होते है। उन्होने बडे प्यार और अपनत्व से बच्चे से पुछा, "बताओ बेटे, आप क्या दे सकते हो?"

बच्चा अपनी जेब से वो सारी सीपें बाहर निकालकर दुकानदार को देता है जो उसने थोडी देर पहले बहन के साथ समुंदर किनारे से चुन चुन कर लाया था ।

दुकानदार वो सब लेकर यूँ गिनता है जैसे पैसे गिन रहा हो। सीपें गिनकर वो बच्चे की तरफ देखने लगा तो बच्चा बोला,"सर कुछ कम है क्या?"

दुकानदार :-" नही नही, ये तो इस गुड़िया की कीमत से ज्यादा है, ज्यादा मै वापिस देता हूं" यह कहकर उसने 4 सीपें रख ली और बाकी की बच्चे को वापिस दे दी। बच्चा बडी खुशी से वो सीपें जेब मे रखकर बहन को साथ लेकर चला गया।

यह सब उस दुकान का नौकर देख रहा था, उसने आश्चर्य से मालिक से पुछा, " मालिक ! इतनी महंगी गुड़िया आपने केवल 4 सिपों के बदले मे दे दी ?"

दुकानदार हंसते हुये बोला, "हमारे लिये ये केवल सीप है पर उस 6 साल के बच्चे के लिये अतिशय मूल्यवान है।

और अब इस उम्र मे वो नही जानता की पैसे क्या होते है ? पर जब वह बडा होगा ना...और जब उसे याद आयेगा कि उसने सिपों के बदले बहन को गुड़िया खरीदकर दी थी, तब ऊसे मेरी याद जरुर आयेगी, 

वह सोचेगा कि, "यह विश्व अच्छे मनुष्यों से भरा हुआ है।"

यही बात उसके अंदर सकारात्मक दृष्टिकोण बढाने मे मदद करेगी और वो भी अच्छा इंन्सान बनने के लिये प्रेरित होगा

शांति

Inspirational Stories - छोटी बहन (younger sister)


A 6-year-old boy was leaving the market with his 4-year-old younger sister. Suddenly he felt that his sister was left behind.

He stopped, turned back and saw that his sister was staring at something in front of a toy shop.

The boy comes back and asks the sister, "Do you want anything?" The girl shows a finger by raising her finger.

The child holds his hand, like a responsible elder brother, he gives the doll to his sister. The sister has become very happy.

The shopkeeper was watching all this and was surprised to see the behavior of the child .... Now that child came to the counter with the sister
And asked the shopkeeper, "Sir, how much is this doll worth?"

The shopkeeper is a quiet person, he has seen many ups and downs of life. He asked the child with great love and affection, "Tell me, son, what can you give?"

The child takes out all the oysters from his pocket and gives it to the shopkeeper, who he had just a short time ago picked up from the seaside with his sister.

The shopkeeper counts it as if counting money. After counting the seas, he started looking at the child and the child said, "Sir, is there anything less?"

Shopkeeper: - "No, this is more than the price of this doll, I give more", saying this, he kept 4 oysters and returned the rest to the child. The child very happily kept the oysters in his pocket and took the sister along.

The servant of the shop was watching all this, he asked the owner by surprise, "Master! You gave such a expensive doll for only 4 sips?"

The shopkeeper said with a laugh, "For us this is only oyster but very valuable for that 6 year old child.

And now at this age he does not know what money is? But when he will grow up, will he remember me when he remembers that he had bought the doll instead of sips to his sister,

He would think, "This world is full of good men."

This will help to increase positive attitude in him and he will also be motivated to become a good person.

Om Shanti

Comments